19 नवम्बर 2018
अमित शाह का उकसाने वाला भाषण - पोलिट ब्यूरो ने निंदा की

अमित शाह का उकसाने वाला भाषण - पोलिट ब्यूरो ने निंदा की

सबरीमला प्रकरण पर भाजपा अध्यक्ष, अमित शाह के कन्नूर के भाषण की निंदा करते हुए भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) के पोलिट ब्यूरो ने 28 अक्टूबर को निम्रलिखित बयान जारी किया:

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने केरल में अपने भाषण में, सबरीमला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश के संबंध में सुप्रीम कोर्ट के आदेश को चुनौती दी है और अपनी पार्टी के लोगों को अदालत के फैसले का उल्लंघन करने के लिए उकसाया है। ऐसा कर के उन्होंने यह उजागर कर दिया है कि सबरीमला में महिलाओं के प्रवेश के खिलाफ हिंसक विरोध कार्रवाइयों के पीछे असली हाथ किस का था।

इस तरह के उकसावे के फलस्वरूप ही स्वामी संदीपानंद गिरि के आश्रम पर आगजनी कर घोर निंदनीय हमला किया गया है।

यह देश के संविधान तथा सुप्रीम कोर्ट के प्रति आरएसएस-भाजपा की हिकारत के अनुरूप ही है कि सत्ताधारी पार्टी का अध्यक्ष इतनी नंगई से सुप्रीम कोर्ट के फैसले का मजाक उड़ा रहा है। उसने केरल राज्य सरकार को यह धमकी दी है कि अगर उसने सुप्रीम कोर्ट के फैसले का पालन करना जारी रखा तो उसे पलट दिया जाएगा। यह अमित शाह के जाने-पहचाने जनतंत्रविरोधी, तानाशाहीपूर्ण रुख का ही एक और सबूत है।

सी पी आइ (एम) के पोलिट ब्यूरो को यकीन है कि केरल की जनता, भाजपा तथा आरएसएस की प्रतिगामी तथा विघटनकारी राजनीति को ठुकराएगी।

सी पी आइ (एम), भाजपा के महिलाविरोधी रुख को और उसके पितृसत्तावादी, सवर्णतावादी व्यवस्था की पक्षधर होने को, देश भर में बेनकाब करेगी।

सी पी आइ (एम) पोलिट ब्यूरो, सुप्रीम कोर्ट के फैसलेका विरोध करने का दावा करने वालों द्वारा की जा रही हिंसा तथा हुल्लड़बाजी को रोकने के लिए एलडीएफ सरकार द्वारा उठाए जा रहे कदमों की सराहना करता है।


Comments